honeybees

शहद की मक्खियां

शहद की मक्खियां फूलों का जो रस जमा करती है, वह सब का सब शहद नहीं होता, उसका सिर्फ एक तिहाई 1/3 हिस्सा शहद बनता है. इन की मक्खियों को 20 लाख फूलों का रस हासिल करना पड़ता है एक पाउंड शहद के लिए . उसके लिए मक्खियां तकरीबन 30 लाख उड़ानें भरती हैं और इस दौरान में वह मजमुई तौर पर 50 हज़ार माइल तक की मसाफ़त तय करती है. रस जब मतलुबा (आवश्यक) मात्रा में जमा हो जाता है तो उसके बाद शहद बनाने का काम शुरू होता है।

शहद अपने इब्तिदाई मरहले में पानी की तरह पतला होता है, इ़से तैयार करने वाली मक्खियां अपने परों को पंखे की तरह इस्तेमाल करके गैर ज़रूरी पानी को भाप की तरह उड़ा देती है, जब यह पानी उड़ जाता है तो उसके बाद एक मीठा द्रव (तरल) प्रदार्थ बाकी रह जाता है, जिसको मक्खियां चूस लेती हैं. मक्खियों के मुंह में ऐसी ग्रंथियां होती है जो अपने अमल से उस तरल पदार्थ को शहद में तब्दील कर देती हैं,और यह एक लंबा प्रोसीजर होता है।

अब मख्खियां इस तैयार शहद को छत्ते के विशिष्ट तौर पर बने हुए सूराखों में भर देती हैं, यह खाने दूसरी मक्खियां मोम के जरिए हद दर्जा कारीगरी के साथ बनाती हैं. इ़से मक्खियां को उन चेम्बर्स में भर कर उसको “डिब्बाबंद” भोजन की तरह एहतेमाम के साथ महफूज कर देती है ताकि आइंदा काम आ सके।

इस प्रकार के बेशुमार प्रबंध हैं जो शहद की तैयारी में किए जाते हैं। अल्लाह तआला ऐसा कर सकता था कि चमत्कारिक तौर पर अचानक इ़से पैदा कर दे या पानी की तरह शहद का चश्मा बहा दे, मगर उसने ऐसा नहीं किया. अल्लाह तआला हर प्रकार की ताकत और कुदरत के बावजूद शहद को अस्बाब के एक परफेक्ट सिस्टम के तहत तैयार करता है ताकि इंसान को सबक हो। वह जाने खुदा ने दुनिया का निजाम किस ढंग पर बनाया है और किन कानूनों और आदाब को फॉलो करके खुदा की इस दुनिया में कोई शख्स कामयाब हो सकता है।

शहद की मक्खी जिस तरह अमल करती है उसको एक लफ्ज़ में “मंसूबाबंद अमल” “work plan” कह सकते हैं, यही उसूल इंसान के लिए भी है. इंसान भी सिर्फ उस वक्त कोई हकीकी कामयाबी हासिल कर सकता है जबकि वह मंसूबा बंद अमल के जरिए अपने मकसद तक पहुंचने की कोशिश करे। आयोजन और योजनाबद्ध प्रकिया ही इस दुनिया में कामयाबी हासिल करने का वाहिद यकीनी तरीका है, इन मक्खियों के लिए भी और इंसान के लिए भी।
(राज़े हयात 32)

kaba-sharif-kisne-banaya

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published.